बसंत पंचमी पर करें सरस्वती जी की पूजा

16 फरवरी को वसंत पचंमी का त्योहार मानाया जाएगा। कहते हैं इस दिन मां सर्सवती जी प्रकट हुई थीं, इसलिए इस दिन सरस्वती जी की विशेष पूजा अर्चना की जाती है। कहते हैं इस दिन किसी नई विद्या को सीखना भी शुरू किया जाता है। यह तो सभी जानते हैं कि विद्या से बढ़कर कोई धन नहीं हैं। यह भी कहा जाता है कि जिस पर मां सरस्वती की कृपा होती है, उस पर मां लक्ष्मी भी अपनी कृपा बरसाती हैं। बुद्धि और विद्या के बिना धन का सही इस्तेमाल नहीं किया जा सकता, इसलिए महालक्ष्मी और महासरस्वती की पूजा एक साथ की जाती है। ग्रहों की योग देखें तो इस दिन बुध, गुरु, शुक्र व शनि चार ग्रह शनि की राशि मकर में चतुष्ग्रही योग बना रहे हैं। जिससे इस दिन का महत्व और भी बढ़ जाता है।