लविवि बताएगा कैसे नियंत्रित करें शहरों का बढ़ता तापमान

देश में गांवों के मुकाबले शहरों का तापमान तेजी से बढ़ रहा है। स्मार्ट सिटी के तहत होने वाले काम से विकास की गंगा के साथ ही जलवायु परिवर्तन से होने वाले खतरे भी बढ़े हैं। प्रदेश में शहरी ताप नियंत्रण नीति के लागू करने के लिए लविवि अपने सुझाव देगा। इसके लिए लविवि के विधि संकाय के शिक्षक डॉ. वरुण छाछड़ को 15 लाख रुपये का प्रोजेक्ट मिला है।

इंडियन कौंसिल फॉर सोशल साइंस रिसर्च (आईसीएसएसआर) के इस प्रोजेक्ट के तहत अर्बन हीट लैंड के प्रभावों से पर्यावरण को होने वाले नुकसानों का आकलन किया जाएगा। डॉ. छाछड़ ने बताया कि शहरीकरण की प्रतिस्पर्धा में हमारे नगरीय निकाय पर्यावरण संबंधी समस्याओं का अंदाजा नहीं लगा पा रहे हैं। इसके चलते कूड़ा प्रबंधन समेत कई विकट समस्याओं के साथ ही जलवायु परिवर्तन से होने वाले खतरे बढ़ रहे हैं। अभी तक प्रदेश में इस तरह की कोई पाॅलिसी नहीं है।