जयप्रकाश नारायण की जयंती पर महिला चरखा समिति पहुंचे नीतीश कुमार

सियासत की बातें (Rashtra Pratham) :- पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  सोमवार को जय प्रकाश नारायण की जयंती के मौके पर पटना के कदमकुआं स्थित महिला चरखा समिति पहुंचे. यहां उन्होंने जय प्रकाश नारायण की तस्वीर पर पुष्प अर्पित किया. इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जेपी का जो विचार है और जैसा उन्होंने नेतृत्व किया उसी से हम सब लोग जाने और सीखे उसके आधार पर आज हम सब काम कर रहे हैं. बापू (महात्मा गांधी), जेपी और लोहिया के विचारों को ही अपनाते हुए सामाज को आगे बढ़ा रहे हैं.नीतीश कुमार ने कहा कि समाज में एकता रखना, भाईचारा रखना ही हमलोगों ने उनसे सीखा है. पिछली बार कोरोना था, लेकिन इस बार जैसे ही आने का मौका मिला तो हमलोग आए.

आज हम यहां नहीं आते तो संतोष नहीं होता, इसलिए हमने तुरंत कहा कि आज हम यहां आएंगे. नीतीश कुमार ने कहा कि यहां (महिला चरखा समिति) जो लोग भी काम करते हैं उनके लिए तो सहयोग है ही लेकिन इसके अलावा भी किसी तरह की जरूरत होती है तो उन सब चीज का समाधान किया जाएगा.उन्होंने कहा कि इसका रेनोवेशन भी किया जाता है और आगे भी होता रहेगा. नीतीश कुमार ने अंत में कहा कि जेपी के विचारों को कभी भुलाया नहीं जा सकता है. उन्हीं तीन लोगों के आधार पर हमलोग चल रहे हैं. हमारा मकसद होता है कि नई पीढ़ी के लोग इस बात को जानें और उनको समझें. बता दें कि जय प्रकाश नारायण का जन्म 11 अक्टूबर को बिहार में हुआ था. आज देशभर में उन्हें याद किया जा रहा है.