राजनाथ के बयान से सहमत नहीं भूपेश बघेल

इससे पहले केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दावा करते हुए कहा था कि सावरकर ने जेल में बंद होने पर अंग्रेजों को माफी की चिट्ठी महात्मा गांधी के कहने पर लिखी थी। उन्होंने कहा कि सावरकर के बारे में तमाम भ्रांतियों को फैलाया गया और उन्हें हेय दृष्टि से देखा गया। उन्हें फासीवादी व नाजीवादी जैसे उपमाएं दी गई। राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान की अनदेखी गई। ऐसा करने में एक विचारधारा से जुड़े लोग आगे रहे। इसे न्याय संगत नहीं कहा जा सकता है। राष्ट्रवादी सावरकर महानायक थे और रहेंगे।