Umesh Pal Murder मामले में शूटर्स की गाड़ी अतीक अहमद के घर के पास हुई बरामद

उत्तरप्रदेश के प्रयागराज में उमेश पाल की हत्या के बाद पूरे उत्तर प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है। उत्तर प्रदेश पुलिस  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आपराधियों को सख्त चेतावनी दी है। वहीं बीजेपी विधायक सिद्धार्थ नाथ सिंह रविवार को हत्याकांड में मारे गए उमेश पाल के घर परिजनों से भी मुलाकात की है।

गौरतलब है कि बसपा विधायक राजू पाल हत्याकांड मामले के मुख्य गवाह उमेश पाल ही थे, जिनकी हत्या शुक्रवार को दिन दहाड़े कर दी गई है। इस घटना के बाद आरोपियों को पकड़ने के लिए राज्य की स्पेशल टास्क फोर्स की टीमें तैनात की गई है, जो आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी में जुटी हुई है। सीसीटीवी वीडियो क्लिप के जरिए अपराधियों की शिनाख्त कर उनकी तलाश की जा रही है। जानकारी के मुताबिक छापेमारी में जुटी टीम को बाहुबली अतीक अहमद के घर के पास से ही सफेद रंग की क्रेटा गाड़ी मिली है, जिसके जरिए आरोपियों ने घटना को अंजाम दिया था।

 

कहा जा रहा है कि पुलिस को जो क्रेटा गाड़ी मिली है उसमें नंबर प्लेट नहीं है। जांच में ये भी सामने आया है कि जिन सात शूटर्स ने हत्याकांड को अंजाम दिया है उनमें से दो शूटर्स अतीक अहमद के गैंग से ताल्लुक रखते है। पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए तेजी से अभियान चलाया है।

संभावना है कि इस हत्याकांड के पीछे अतीक अहमद का ही हाथ है। इस संबंध में अतीक अहमद, उसकी पत्नी, बेटों और 9 अन्य साथियों के खिलाफ पुलिस ने केस भी दर्ज कर लिया है। पुलिस ने भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 147, 148, 149, 302, 307, 506, 120-बी, 34, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, 1908 की धारा 3 और आपराधिक कानून (संशोधन) अधिनियम, 1932 की धारा 7 के तहत मामला दर्ज किया है। जानकारी के मुताबिक अतीक अहमद वर्तमान में गुजरात की जेल में बंद है मगर यूपी एसटीएफ की टीम गुजरात जाकर इस मामले में उससे पूछताछ कर सकती है। आशंका है कि अतीक अहमद के खिलाफ बुलडोजर एक्शन भी लिया जा सकता है।

 

विधायक सिद्धार्थ नाथ सिंह ने की परिजनों से मुकालात

मृतक उमेश पाल के परिजनों से मिलने 26 फरवरी को भाजपा विधायक सिद्धार्थ नाथ सिंह भी पहुंचे। उन्होंने मृतक की मां, पत्नी से भी मुलाकात की और उन्हें ढांढस बंधाया। उन्होंने आरोपियों पर निशाना साधते हुए कहा कि जब दिए में तेल खत्म होता है तो वो ऐसे ही फड़फड़ाता है। उन्होंने कहा कि हम परिवार के साथ है। मुख्यमंत्री कह चुके हैं कि माफियाओं को मिट्टी में मिला कर रहेंगे और अब इस कथनी को करनी में बदला जाएगा, जिसमें अधिक समय नहीं लगेगा।