राहुल गांधी के संसद में माइक बंद करने वाले बयान पर बिफरे उपसभापति

कांग्रेस नेता राहुल गांधी इन दिनों ब्रिटेन दौरे पर हैं। उनका यह ब्रिटेन दौरा खूब चर्चा में है क्योंकि वह ब्रिटेन में सरकार, भाजपा, और आरएसएस पर जमकर निशाना साध रहे हैं। सोमवार को राहुल गांधी ने ब्रिटेन की संसद में वहां के कुछ सांसदों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय संसद में विपक्षी नेताओं के माइक बंद कर दिए जाते हैं। राहुल गांधी के इस बयान पर राज्यसभा के उप-सभापति हरिवंश नारायण सिंह ने नाराजगी जताई है और कहा है कि राहुल गांधी का यह दावा झूठा है।

राज्यसभा उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने कहा कि ‘राहुल गांधी ने लंदन में जो कहा वह सरासर झूठा, बेबुनियाद, निराधार और आधारहीन है। मैं अपने अनुभव से कह सकता हूं कि इस तरह की बातें मुझे आज तक किसी से सुनने को नहीं मिली। हरिवंश नारायण सिंह ने कहा कि 1952 से जिन परंपराओं, व्यवस्थाओं के तहत संसद चलती थी, वैसे ही आज भी चल रही है।’बता दें कि सोमवार को ब्रिटेन की संसद में भारतीय मूल के सांसद वीरेंद्र शर्मा ने राहुल गांधी के लिए एक कार्यक्रम आयोजित किया था। इस कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी जिस माइक्रोफोन का इस्तेमाल कर रहे थे, वह खराब था। इस पर राहुल गांधी ने कहा कि भारत में हमारे माइक खराब नहीं हैं, वो काम कर रहे हैं लेकिन आप उन्हें चालू नहीं कर सकते। जब मैंने भारतीय संसद में अपनी बात रखने की कोशिश की तो मेरे साथ कई बार ऐसा हुआ। राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि विपक्ष का दमन किया जा रहा है।

राहुल गांधी ने कहा कि ‘नोटबंदी सरकार की भूल थी और हम इस पर चर्चा करना चाहते थे लेकिन चर्चा नहीं करने दी गई। हम जीएसटी के खिलाफ आवाज उठाना चाहते थे लेकिन नहीं करने दी गई। राहुल ने कहा कि पहले संसद में तीखी बहस होती थी लेकिन अब ऐसा नहीं है। ये दम घोंटने वाला है।’